अपना रेस्टुरेंट कैसे शुरू करें

Last Updated at: July 20, 2020
244
अपना रेस्टुरेंट कैसे शुरू करें

इस देश में बहुत से लोग अपना रेस्टुरेंट शुरू करना चाहते हैं, अगर आप भी उनमे से एक है तो ये ब्लॉग आपकी मदद करेगा| चलिए हम आपको बताते हैं, आपको किन किन बातों का ध्यान रखना होगा, कौन सी लाइसेंस लेनी पड़ेगी और हम आपकी कैसे मदद कर सकते हैं|

एक रेस्तरां व्यवसाय शुरू करना बहुत ही रोमांचक है लेकिन एक ही समय में  इस व्यवसाय में बहुत सारी जटिलताएं शामिल होती हैं जैसे कि सही स्थान प्राप्त करना, अच्छे कर्मचारियों को काम पर रखना, व्यवसाय का विपणन (Marketing) करना आदि। आपको यह भी सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि आपके पास सभी कानूनी कागजात हों और सबसे जरुरी है लाइसेंस

भारत में एक रेस्तरां शुरू करने के लिए आवश्यक लाइसेंस

1. FSSAI (खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण) लाइसेंस

FSSAI लाइसेंस, जिसे फूड लाइसेंस के रूप में भी जाना जाता है,  रेस्तरां खोलने के लिए आवश्यक लाइसेंस में से एक है और इसे FSSAI (फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया) से प्राप्त किया जाता है|यह लाइसेंस ये पुष्टि करता है की खाना सुरक्षित है|

 FSSAI license मूल रूप से एक 14 अंकों का पंजीकरण नंबर  (Registration number) है  जो रेस्तरां निर्माताओं (Restaurant makers) और व्यापारियों को दिया जाता है जिसे खाद्य पैकेजों पर मुद्रित (Printed) किया जाना चाहिए। यह ग्राहकों को पुष्टि करता है कि वे सही जगह पर खा रहे हैं जो सभी सुरक्षा खाद्य मानकों (Safety food standards) का पालन किया गया है| 

2. शराब का लाइसेंस

यदि आपका रेस्तरां शराब परोसता है  तो शराब लाइसेंस प्राप्त किया जाना चाहिए। यह लाइसेंस स्थानीय उत्पाद शुल्क आयुक्त से प्राप्त किया जाता है या  उनके  माध्यम से प्राप्त किया जा सकता है जो उस विशेष राज्य की सरकारी वेबसाइटों में उपलब्ध हैं| यदि यह पता चलता है कि आप इस लाइसेंस के बिना शराब बेच रहे हैं तो आपको भारी जुर्माना लगेगा। कुछ मामलों में आपका व्यवसाय स्थायी रूप से बंद किया जा सकता है।

FSSAI लाइसेंस

3. स्वास्थ्य / व्यापार लाइसेंस

स्वास्थ्य व्यापार लाइसेंस इसलिए निर्माण  है कि सार्वजनिक स्वास्थ्य को अत्यंत महत्व दिया जाना चाहिए। यह लाइसेंस स्थानीय नागरिक प्राधिकरणों (Local civil authorities) या  विशेष राज्य या स्वास्थ्य विभाग के नगर निगम से प्राप्त होता है|  

4. ईटिंग हाउस लाइसेंस

ईटिंग हाउस का लाइसेंस उस विशेष शहर के लाइसेंसिंग पुलिस आयुक्त द्वारा दिया जाता है जहां आप रेस्तरां खोल रहे हैं  इस लाइसेंस को प्राप्त करने की अनुमानित लागत है साल की अवधि के लिए 300 रुपये ।

5. दुकान और स्थापना अधिनियम (Shop and Establishment Act)

भारत में  यदि आप एक रेस्तरां चलाते है तो इसके लिए आपको पहले इसे दुकानें और स्थापना अधिनियम के तहत पंजीकृत करना होगा। रेस्तरां को शुरू होने के 30 दिनों के भीतर पंजीकृत किया जाना चाहिए। यह लाइसेंस इस बात पर आधारित है कि आप किस शहर में रेस्तरां का संचालन कर रहे हैं।

6. जीएसटी पंजीकरण

1 जुलाई  2017 से लागू होने वाला जो यह  जीएसटी  है यह अपने लगातार बदलावों के साथ सभी को झुका दिया है। रेस्तरां व्यवसाय और सरकार दोनों लंबे समय से परेशानी में हैं। फिर भी जीएसटी में पंजीकरण करना मुख्य चीजों में से एक है जो आपके रेस्तरां को करना चाहिए  जो आपके रेस्तरां को मूल रूप से चलाना सुनिश्चित करता है

7. आग बुझाने का लाइसेंस

रेस्तरां का मुख्य उद्देश्य होता  है अपने ग्राहकों को उन सभी चीज़ों के प्रति संरक्षण | जो कि हानिकारक हैं  चाहे वह खाद्य उत्पाद हो या आग जैसे खतरे । विशेष राज्य के अग्निशमन विभाग (Fire department) से एक अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) एक रेस्तरां चलाने के लिए आवश्यक ह।

8. लिफ्ट क्लीयरेंस

यदि आपके रेस्तरां में एक लिफ्ट स्थापित है तो आपको बिजली विभाग के निरीक्षक और उस विशेष शहर के श्रम आयुक्त से अनुमति लेनी होगी । यह लाइसेंस इलेक्ट्रिकल इंस्पेक्टर द्वारा श्रम आयुक्त कार्यालय से लिफ्ट, लेआउट , सुरक्षा गियर आदि की स्थापना की पुष्टि करने के बाद दिया जाता है।

9. संगीत लाइसेंस

यदि आपका रेस्तरां संगीत चला रहा है  तो आपको फ़ोनोग्राफ़िक प्रदर्शन लिमिटेड (PPL) से संगीत लाइसेंस प्राप्त होना चाहिए। यदि यह पाया जाता है कि आपका रेस्तरां उचित लाइसेंस प्राप्त किए बिना संगीत बजा रहा है तो आपको भारी दंड का सामना (Face punishment) करना पड़ेगा।

10.पर्यावरण मंजूरी का प्रमाण पत्र

रेस्तरां (Restaurant) न केवल ग्राहकों के स्वास्थ्य के लिए जिम्मेदार है,  बल्कि यह सुनिश्चित करने के लिए कानूनी और नैतिक रूप से जिम्मेदार है कि इसके संचालन प्रकृति को नुकसान नहीं पहुंचा रहे हैं  इसलिए  रेस्तरां को पर्यावरणीय मंजूरी प्राप्त हो | इसका  प्रमाण पत्र प्राप्त करना आवश्यक है।

रेस्तरां सबसे अच्छे स्टार्टअप विचारों में से एक हैं जिनके बारे में आप कभी भी  सोच सकते हैं हालांकि  एक भोजनालय चलाना उतना ही मुश्किल हो सकता है क्योंकि यह सीधे उपभोक्ताओं (Consumers) के स्वास्थ्य और सुरक्षा से संबंधित है। यदि आप कानूनी आवश्यकताओं को पूरा करने का प्रबंधन करते हैं  तो आपका व्यवसाय अपनी स्थिति को मजबूत करता है  और साथ ही आप सभी दंडात्मक कार्यों से दूर रह पाते हैं

चाहे आपको अपनी बिज़नेस रजिस्टर करनी हो या कोई लाइसेंस प्राप्त करना हो, हम करेंगे आपकी मदद| आप अपना डिटेल्स हमें दें, और हमारे रिप्रेजेन्टेटिव जल्द ही आपसे संपर्क करेंगे|

0

अपना रेस्टुरेंट कैसे शुरू करें

244

इस देश में बहुत से लोग अपना रेस्टुरेंट शुरू करना चाहते हैं, अगर आप भी उनमे से एक है तो ये ब्लॉग आपकी मदद करेगा| चलिए हम आपको बताते हैं, आपको किन किन बातों का ध्यान रखना होगा, कौन सी लाइसेंस लेनी पड़ेगी और हम आपकी कैसे मदद कर सकते हैं|

एक रेस्तरां व्यवसाय शुरू करना बहुत ही रोमांचक है लेकिन एक ही समय में  इस व्यवसाय में बहुत सारी जटिलताएं शामिल होती हैं जैसे कि सही स्थान प्राप्त करना, अच्छे कर्मचारियों को काम पर रखना, व्यवसाय का विपणन (Marketing) करना आदि। आपको यह भी सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि आपके पास सभी कानूनी कागजात हों और सबसे जरुरी है लाइसेंस

भारत में एक रेस्तरां शुरू करने के लिए आवश्यक लाइसेंस

1. FSSAI (खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण) लाइसेंस

FSSAI लाइसेंस, जिसे फूड लाइसेंस के रूप में भी जाना जाता है,  रेस्तरां खोलने के लिए आवश्यक लाइसेंस में से एक है और इसे FSSAI (फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया) से प्राप्त किया जाता है|यह लाइसेंस ये पुष्टि करता है की खाना सुरक्षित है|

 FSSAI license मूल रूप से एक 14 अंकों का पंजीकरण नंबर  (Registration number) है  जो रेस्तरां निर्माताओं (Restaurant makers) और व्यापारियों को दिया जाता है जिसे खाद्य पैकेजों पर मुद्रित (Printed) किया जाना चाहिए। यह ग्राहकों को पुष्टि करता है कि वे सही जगह पर खा रहे हैं जो सभी सुरक्षा खाद्य मानकों (Safety food standards) का पालन किया गया है| 

2. शराब का लाइसेंस

यदि आपका रेस्तरां शराब परोसता है  तो शराब लाइसेंस प्राप्त किया जाना चाहिए। यह लाइसेंस स्थानीय उत्पाद शुल्क आयुक्त से प्राप्त किया जाता है या  उनके  माध्यम से प्राप्त किया जा सकता है जो उस विशेष राज्य की सरकारी वेबसाइटों में उपलब्ध हैं| यदि यह पता चलता है कि आप इस लाइसेंस के बिना शराब बेच रहे हैं तो आपको भारी जुर्माना लगेगा। कुछ मामलों में आपका व्यवसाय स्थायी रूप से बंद किया जा सकता है।

FSSAI लाइसेंस

3. स्वास्थ्य / व्यापार लाइसेंस

स्वास्थ्य व्यापार लाइसेंस इसलिए निर्माण  है कि सार्वजनिक स्वास्थ्य को अत्यंत महत्व दिया जाना चाहिए। यह लाइसेंस स्थानीय नागरिक प्राधिकरणों (Local civil authorities) या  विशेष राज्य या स्वास्थ्य विभाग के नगर निगम से प्राप्त होता है|  

4. ईटिंग हाउस लाइसेंस

ईटिंग हाउस का लाइसेंस उस विशेष शहर के लाइसेंसिंग पुलिस आयुक्त द्वारा दिया जाता है जहां आप रेस्तरां खोल रहे हैं  इस लाइसेंस को प्राप्त करने की अनुमानित लागत है साल की अवधि के लिए 300 रुपये ।

5. दुकान और स्थापना अधिनियम (Shop and Establishment Act)

भारत में  यदि आप एक रेस्तरां चलाते है तो इसके लिए आपको पहले इसे दुकानें और स्थापना अधिनियम के तहत पंजीकृत करना होगा। रेस्तरां को शुरू होने के 30 दिनों के भीतर पंजीकृत किया जाना चाहिए। यह लाइसेंस इस बात पर आधारित है कि आप किस शहर में रेस्तरां का संचालन कर रहे हैं।

6. जीएसटी पंजीकरण

1 जुलाई  2017 से लागू होने वाला जो यह  जीएसटी  है यह अपने लगातार बदलावों के साथ सभी को झुका दिया है। रेस्तरां व्यवसाय और सरकार दोनों लंबे समय से परेशानी में हैं। फिर भी जीएसटी में पंजीकरण करना मुख्य चीजों में से एक है जो आपके रेस्तरां को करना चाहिए  जो आपके रेस्तरां को मूल रूप से चलाना सुनिश्चित करता है

7. आग बुझाने का लाइसेंस

रेस्तरां का मुख्य उद्देश्य होता  है अपने ग्राहकों को उन सभी चीज़ों के प्रति संरक्षण | जो कि हानिकारक हैं  चाहे वह खाद्य उत्पाद हो या आग जैसे खतरे । विशेष राज्य के अग्निशमन विभाग (Fire department) से एक अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) एक रेस्तरां चलाने के लिए आवश्यक ह।

8. लिफ्ट क्लीयरेंस

यदि आपके रेस्तरां में एक लिफ्ट स्थापित है तो आपको बिजली विभाग के निरीक्षक और उस विशेष शहर के श्रम आयुक्त से अनुमति लेनी होगी । यह लाइसेंस इलेक्ट्रिकल इंस्पेक्टर द्वारा श्रम आयुक्त कार्यालय से लिफ्ट, लेआउट , सुरक्षा गियर आदि की स्थापना की पुष्टि करने के बाद दिया जाता है।

9. संगीत लाइसेंस

यदि आपका रेस्तरां संगीत चला रहा है  तो आपको फ़ोनोग्राफ़िक प्रदर्शन लिमिटेड (PPL) से संगीत लाइसेंस प्राप्त होना चाहिए। यदि यह पाया जाता है कि आपका रेस्तरां उचित लाइसेंस प्राप्त किए बिना संगीत बजा रहा है तो आपको भारी दंड का सामना (Face punishment) करना पड़ेगा।

10.पर्यावरण मंजूरी का प्रमाण पत्र

रेस्तरां (Restaurant) न केवल ग्राहकों के स्वास्थ्य के लिए जिम्मेदार है,  बल्कि यह सुनिश्चित करने के लिए कानूनी और नैतिक रूप से जिम्मेदार है कि इसके संचालन प्रकृति को नुकसान नहीं पहुंचा रहे हैं  इसलिए  रेस्तरां को पर्यावरणीय मंजूरी प्राप्त हो | इसका  प्रमाण पत्र प्राप्त करना आवश्यक है।

रेस्तरां सबसे अच्छे स्टार्टअप विचारों में से एक हैं जिनके बारे में आप कभी भी  सोच सकते हैं हालांकि  एक भोजनालय चलाना उतना ही मुश्किल हो सकता है क्योंकि यह सीधे उपभोक्ताओं (Consumers) के स्वास्थ्य और सुरक्षा से संबंधित है। यदि आप कानूनी आवश्यकताओं को पूरा करने का प्रबंधन करते हैं  तो आपका व्यवसाय अपनी स्थिति को मजबूत करता है  और साथ ही आप सभी दंडात्मक कार्यों से दूर रह पाते हैं

चाहे आपको अपनी बिज़नेस रजिस्टर करनी हो या कोई लाइसेंस प्राप्त करना हो, हम करेंगे आपकी मदद| आप अपना डिटेल्स हमें दें, और हमारे रिप्रेजेन्टेटिव जल्द ही आपसे संपर्क करेंगे|

0

No Record Found
शेयर करें