ई आधार कार्ड से जुड़ी सभी जानकारी

163

भारत दुनिया का दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश है, और इसलिए यहाँ के नागरिकों के मूलभूत रिकॉर्ड को एक जगह पर बनाए रखने का काम काफी मुश्किल है।  यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) इस कार्य का प्रबंधन करता है और यह प्रत्येक नागरिक को 12 अंकों वाला एक आधार कार्ड देता है। यह कोड एक डिजिटल फुटप्रिंट की तरह काम करता है और यह यूनिक कोड होता है जो आपको आपके पड़ोसी या किसी भी अन्य नागरिक से अलग करता है। ये अंक सरकार को या ऑथरिटी को  आपके और आपके घर के संबंध में सभी जानकारी देते हैं। तो इस लेख में ई आधार कार्ड के बारे में उन सभी चीजों के बारे में बताया गया है, जो प्रत्येक भारतीय नागरिक के लिए ज़रूरी है।

  1. ई आधार कार्ड का अन्यत्र परिदृश्य
  2. ई आधार कार्ड का इतिहास
  3. ई आधार कार्ड का वर्तमान
  4. ई आधार कार्ड की बुनियादी दिशानिर्देश और पात्रता
  5. ई आधार कार्ड के लाभ
  6. ई आधार कार्ड में विवरण
  7. आधार कार्ड के लिए आवश्यक दस्तावेज़
  8. ई आधार कार्ड का स्टेटस कैसे चेक करें?
  1. ई आधार कार्ड का अन्यत्र परिदृश्य

अमेरिका जैसे देशों में एक सामाजिक सुरक्षा प्रणाली है, जो प्रत्येक व्यक्ति को एक अद्वितीय संख्या प्रदान करती है, जो उन्हें पहचानने में मदद करती है जबकि भारत ने सामाजिक पहल और सामाजिक सुरक्षा के संबंध में अमेरिका जैसे विकसित देशों को फॉलो करने में थोड़ा समय लिया, परंतु आज हम आधार कार्ड के नज़रिए से देखें, तो सामाजिक सुरक्षा के मामले में बदलाव होता दिख रहा है। भारत का यूआईडीएआई 2009 में सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत प्रत्येक नागरिक को “आधार” कार्ड या एक यूनिक नंबर प्रदान करने के लिए स्थापित किया गया था। जिसका उद्देश्य सामाजिक सुरक्षा को सुदृढ़ करना था।  

  1. ई आधार कार्ड का इतिहास

पहला आधार नंबर 29 सितंबर 2010 को महाराष्ट्र के एक नागरिक को जारी किया गया था, और नौ साल बाद आज 2019 में हम यह देख सकते हैं कि लगभग सभी नागरिकों के पास एक यूनिक नंबर या आधार कार्ड मौजूद है। ऐसी पहचान की तकनीक, चोरी के जोखिम को खत्म करने में मदद करती है और सरकार को अपराधियों पर नज़र रखने में मदद करती है। इससे समाज में नागरिकों के अंदर एक सुरक्षा का भाव पैदा होता है और सुरक्षा व्यवस्था मजबूत बनती है। यूआईडीएआई आधार कार्ड मुद्रित करने के लिए प्रत्येक व्यक्ति के बायोमेट्रिक जानकारी और मूल जानकारी जैसे नाम, पता, आयु के डाटा एकत्र करती है।

  1. ई आधार कार्ड का वर्तमान

आधार दुनिया का सबसे बड़ा और सबसे व्यापक बायोमेट्रिक सिस्टम के रूप में विस्तारित और विकसित हुआ है। जो निवास और पहचान दोनों का प्रमाण है। लेकिन,  आधार कार्ड नागरिकता के प्रमाण के रूप में काम नहीं करता है। यानी आधार कार्ड ये प्रमाणित नहीं करता कि आप भारत के नागरिक हैं। आधार अधिनियम को 2016 में लोकसभा में पारित किया गया था, जिसके बाद भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) की स्थापना की गई 12-अंकीय आधार संख्या प्रत्येक भारतीय नागरिक को प्रदान की जाती है और इसलिए यह विशुद्ध रूप से अद्वितीय संख्या है, जिसे कभी भी दोहराया नहीं जा सकता। यह यूआईडीएआई द्वारा जारी किया गया है और भ्रष्टाचार को रोकने में मदद तथा पारदर्शी शासन सुनिश्चित करने में मदद करता है। इससे मिलने वाले लाभों के कारण भारत सरकार ने इसे सभी नागरिकों के लिए अनिवार्य़ कर दिया गया है। क्योंकि भारत सरकार द्वारा चलाए जा रहे अधिकांश योजनाओं को इस कार्ड के आधार पर ही पूरा किया जाता है।

  1. ई आधार कार्ड की बुनियादी दिशानिर्देश और पात्रता
  1. जो भी भारत में 182 दिनों तक रहता है, उसे यहाँ का निवासी माना जाता है और इसलिए वह आधार के लिए आवेदन करने के लिए पात्र है।
  2. विदेशी जो एक वर्ष से अधिक समय से यहां निवास करते हैं, वे भी आवेदन कर सकते हैं।
  3. व्यक्ति अपने जीवनकाल में केवल एक बार ही आधार के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  4. बाल आधार नामक एक नीला रंग का आधार पाँच वर्ष से कम आयु के बच्चों के लिए जारी किया जाता है।
  5. पांच साल से ऊपर के बच्चों को अपने नजदीकी केंद्र में आवेदन करके अपना बायोमेट्रिक विवरण प्रदान करना होगा और एक नियमित कार्ड प्राप्त करना होगा।
  1. ई आधार कार्ड के लाभ
  • सरकारी योजनाओं के लाभ के लिए आवश्यक
  • सरकारी अनुदान प्राप्त करने के लिए अनिवार्य
  • पहचान और पते के प्रमाण के रूप में
  • अवैध प्रथाओं को रोकता है
  • पहचान की चोरी को रोकता है
  • टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए आपको अपने पैन कार्ड को अपने आधार कार्ड से लिंक करना होगा।
  • रिफंड तेजी से प्राप्त करें
  • आपको ऑनलाइन एक बैंक खाता खोलने की अनुमति देता है
  • देश के भीतर काले धन के प्रवाह को प्रतिबंधित करने में मदद करता है। 
  • यह प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए एक फोटो पहचान के रूप में और निजी और सार्वजनिक कंपनियों में प्रवेश के लिए सत्यापन के रूप में उपयोग किया जाता है।
  • एलपीजी सब्सिडी तेजी से प्राप्त करने के लिए
  • तेज़ पासपोर्ट नवीनीकरण और जारी करने के लिए
  • आधार से डुप्लिकेट वाहन पंजीकरण को रोका जा सकता है क्योंकि आधार कार्ड, मोटर वाहन विभाग द्वारा जारी ड्राइविंग लाइसेंस से जुड़ा हुआ है।
  • यदि आप म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहते हैं तो केवाईसी करना अनिवार्य है।
  • पेंशन के भुगतान से संबंधित धोखाधड़ी को रोकता है।
  • भविष्य निधि को वापस लेना आसान बनाता है।
  1. ई आधार कार्ड में विवरण

आधार कार्ड में कुछ विवरण कार्ड पर मुद्रित किए जाते हैं, जबकि कुछ डेटा को क्यूआर कोड में एन्क्रिप्ट किया जाता है और केवल अधिकृत कर्मियों द्वारा ही एक्सेस किया जा सकता है। यहां विवरणों की एक सूची दी गई है जो कार्ड पर दिखाई देगी-

  • नाम
  • जन्म तिथि और आयु
  • कार्ड नंबर
  • लिंग
  • फोटो
  • पता
  • QR कोड में फ़िंगरप्रिंट और IRIS स्कैन शामिल हैं।
  1. आधार कार्ड के लिए आवश्यक दस्तावेज़

पहचान का प्रमाण (कोई भी 1) – आईडी जिसमें आपकी तस्वीर हो

  • वोटर आई.डी.
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • राशन पत्रिका
  • बैंक का एटीएम कार्ड
  • पेंशनर फोटो कार्ड
  • पासपोर्ट
  • एक हस्ताक्षरित लेटरहेड पर राजपत्रित अधिकारी या तहसीलदार द्वारा जारी प्रमाण पत्र

पते का प्रमाण (कोई भी 1) – आईडी जिसमें आपका पता होता है

  • बैंक पासबुक
  • कर की रसीद
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • पासपोर्ट
  • शादी का प्रमाण पत्र
  • गैस का बिल
  • जाति प्रमाण पत्र

जन्म तिथि का प्रमाण (कोई भी 1) – आईडी जिसमें आपकी जन्म तिथि शामिल है-

  • पेंशन भुगतान आदेश
  • पासपोर्ट
  • पैन कार्ड
  • जन्म प्रमाणपत्र
  • विश्वविद्यालय की मार्कशीट

रिश्ते का प्रमाण (कोई भी 1) – आईडी जो आपके रिश्ते को घर के मुखिया को बताती है

  • पासपोर्ट
  • शादी का प्रमाण पत्र
  • जन्म प्रमाणपत्र
  • मेडिकल पर्चा
  1. ई आधार कार्ड का स्टेटस कैसे चेक करें?
  • UIDAI की वेबसाइट www.uidai.gov.in पर जाएं
  • Check Aadhaar Status पर क्लिक करें
  • अपना 14 अंकों का नामांकन नंबर दर्ज करें
  • निर्धारित प्रारूप में दिनांक और समय दर्ज करें
  • सुरक्षा कोड दर्ज करें
  • ‘स्थिति जांचें’ पर क्लिक करें

बताते चलें कि आधार संबंधित किसी भी प्रकार की सहायता के लिए आप 1800-300-1947 पर भी कॉल कर सकते हैं या फिर सीधे वेबसाइट पर जाकर जानकारी ले सकते हैं। बता दें कि ई आधार कार्ड को आप आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं और उसका प्रिंट भी ले सकते हैं, जिसका प्रयोग आप कहीं भी कर सकते हैं। ई आधार कार्ड पूरी तरह से मान्य होता है।

    FAQs

    No FAQs found

    Add a Question


    कोई जवाब दें