आधार कार्ड पर अपना ईमेल, नाम, फोन नंबर कैसे बदलें

Last Updated at: July 20, 2020
408
आधार कार्ड पर अपना ईमेल, नाम, फोन नंबर कैसे बदलें

सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में आधार की संवैधानिक वैधता को बरकरार रखा है। हालांकि  आयकर रिटर्न (आईटीआर) दाखिल करते है और यहां तक ​​कि नए पैन कार्ड बनवाते है तो अपने पैन को आधार से जोड़ना अनिवार्य होता है। यदि आपके आधार कार्ड विवरण में स्पेलिंग मिस्टेक्स, हैं  तो आप दोनों को लिंक करने में सक्षम नहीं हो सकते हैं।

आइये देखें आधार कार्ड को कैसे अपडेट करना है –

  1. आधार के सेल्फ सर्विस अपडेट पोर्टल (SSUP) पर जाएं।
  2. निर्देशों को सावधानी से पढ़ने के बाद “आगे बढ़ें” बटन पर क्लिक करें।
  3. अपना 12 अंकों का आधार नंबर दर्ज करें
  4. बॉक्स में दिए गए Text verification code को दर्ज करें | और Send OTP या Enter TOTP पर क्लिक करें।
  5. UIDAI  के डेटाबेस में पंजीकृत फोन नंबर पर एक ओटीपी भेजा जाएगा।
  6. अपने आधार खाते में लॉग इन करने के लिए इस ओटीपी को दर्ज करें।
  7. लगातार  आप मान्य करने के लिए TOTP  सुविधा का उपयोग कर सकते हैं।
  8. विकल्प “पता” पर टिक करें  और “सबमिट” करें।
  9. अपना आवासीय पता (जैसे पते का पता (पीओए)) साझा करें।
  10. अपडेट रिक्वेस्ट सबमिट करें” बटन पर क्लिक करें।
  11. यदि पते को संशोधित करने की आवश्यकता है, तो ” संशोधित करें ” विकल्प पर क्लिक करें।
  12. अब घोषणा विकल्प की जाँच करें और फिर “आगे बढ़ें” बटन का चयन करें।
  13. POA सत्यापन के लिए प्रस्तुत किए जाने वाले दस्तावेज़ (document) प्रकार का चयन करें।
  14. Address proof स्कैन की हुई कॉपी अपलोड करें और सबमिट करें।
  15. पुष्टि संवाद (Confirmation dialog) पढ़ने के बाद “हां” विकल्प पर क्लिक करें।
  16. अपने विवरण को सत्यापित करने के लिए BPO सेवा प्रदाता चुनें और “सबमिट करें” बटन चुनें।
  17. बीपीओ सेवा प्रदाता निरीक्षण (inspection) करता है यदि फॉर्म में उल्लिखित विवरण पीओए के साथ मेल खाता है और UIDAI के आपके अनुरोध को आगे बढ़ाता है।
  18. बाद में  प्राधिकरण (Authority) ने अपडेट अनुरोध स्वीकार कर लिया और एक पावती पर्ची साझा की (Shared acknowledgment slip)।
  19. दी गई पर्ची में अपडेट रिक्वेस्ट नंबर (URN) है।

अद्यतन (Updates) के बाद  नया संस्करण डाउनलोड किया जाता है और भविष्य के उपयोग के लिए इसका प्रिंट आउट लिया जाता है।

हालाँकि  सभी आवश्यक Updates या सुधार ऑनलाइन नहीं हो सकते हैं। तो उस समय  किसी को अपने आधार कार्ड में आवश्यक परिवर्तन करना होता है  तो Updates के लिए  नामांकन केंद्र पर जाने की आवश्यकता होती है।

नाम परिवर्तन जानकारी

नामांकन केंद्र पर जाकर आधार कार्ड विवरण अपडेट करने की प्रक्रिया –

  1. नामांकन केंद्र में प्रदान किया गया आधार सुधार फॉर्म भरें।
  2. सुनिश्चित करें कि आप सही जानकारी दर्ज करते हैं न कि उद्योग आधार में वर्णित (Described) जानकारी।
  3. अपने Updates के अनुरोध को सत्यापित करना होता है फिर  स्व-सत्यापन (Self verification) के साथ प्रमाण प्राप्त करें।
  4. आवश्यक दस्तावेजों ( documents) के साथ फॉर्म जमा करें ।
  5. यदि आवेदक  अपडेट या सुधार करता है तो सरकार हर एनरोलमेंट सेंटर की यात्रा के लिए न्यूनतम राशि का शुल्क लेती है।

इसके अलावा  आप नामांकन केंद्र पर अपने बायोमेट्रिक डेटा , छवि आदि सहित सभी प्रकार के विवरण अपडेट प्राप्त कर सकते हैं।

आधार कार्ड विवरण को पोस्ट के माध्यम से अद्यतन(Updates) करने की प्रक्रिया –

ऑफ़लाइन अपडेट करने के लिए आधार विवरण प्राप्त कर सकते हैं  UIDAI  को डाक के माध्यम से अनुरोध (request) भेज सकते हैं।

  1. सबसे पहलेआधार डेटा अपडेट / सुधार फॉर्म ऑनलाइन डाउनलोड करें।
  2. आवश्यक विवरण भरें जिसे आप अपने आधार कार्ड में अपडेट या बदलना चाहते हैं।
  3. फिर  दस्तावेजों के कई फोटोकॉपी प्राप्त करें जहां अनुरोधित (Requested) परिवर्तन मान्य (Change valid) हैं।
  4. अंत में UIDAI कार्यालय के डाक पते पर दस्तावेजों ( documents) के साथ फॉर्म भेजें।

अपडेटेड आधार कार्ड होने के विभिन्न लाभ हैं। 

  1. भारतीय नागरिक के लिए आधार कार्ड सबसे मूल्यवान पहचान पत्र है।
  2. कोई भी (ऑनलाइन या ऑफलाइन) से केवल सरकार द्वारा जारी किए गए  है ऐसे दस्तावेज़ को लागू और प्राप्त कर सकते है। इसके अलावा कोई भी इसे ऑनलाइन भी लागू और अपडेट कर सकता है। कोई व्यक्ति ऑनलाइन आधार या ई-आधार डाउनलोड कर सकता है और इसे भौतिक आधार के रूप में उपयोग कर सकता है। इसी तरह सभी सूचनाओं को Updates करते है इसके साथ  ई-आधार दस्तावेज़ को घर पर मूल दस्तावेज रख सकते  है या आसानी के साथ कहीं और सुरक्षित रख सकते हैं।
  3. एक डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र की उपलब्धता । भारत के पेंशनर्स इसे सरकार से प्राप्त करते हैं। पेंशनरों को अपनी पेंशन प्राप्त करने के लिए शारीरिक रूप से उपस्थित होने की आवश्यकता नहीं है। पेंशन एजेंसी पेंशनभोगियों के आधार यूआईएन (विशिष्ट पहचान संख्या) का उपयोग कर सकती है।और   उन्हें पेंशन प्रदान करने के लिए कर सकती है। साथ ही कोई व्यक्ति अपने पेंशन खाते को आधार खाते से जोड़ सकता है और अपनी भविष्य निधि राशि बैंक खाते में प्राप्त कर सकता है।
  4. आधार के साथ पासपोर्ट के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया भी आसान हो जाती है। पासपोर्ट आवेदन के लिए आवासीय और पहचान प्रमाण दोनों ही आधार के साथ दिए गए हैं।
  5. एक पंजीकृत आधार के साथ नागरिक सभी आवंटित (Allotted) सरकारी लाभों और Subsidy का लाभ उठा सकते हैं। आप  एलपीजी सब्सिडी प्राप्त करने  के लिए आधार को एलपीजी 17 अंकों के पिन के साथ जोड़ सकते हैं।
  6. इसके अलावा बैंक खाता खोलने के लिए आधार कार्ड उपयोगी है।

इसलिए  हम अनुशंसा (Recommendation) करते हैं कि सभी अपने आधार कार्ड को सही जानकारी के साथ अपडेट करें | ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि वे सभी उपर्युक्त बिंदुओं ( above points) और कई अन्य लोगों के साथ लाभान्वित हैं।

 

 

0

आधार कार्ड पर अपना ईमेल, नाम, फोन नंबर कैसे बदलें

408

सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में आधार की संवैधानिक वैधता को बरकरार रखा है। हालांकि  आयकर रिटर्न (आईटीआर) दाखिल करते है और यहां तक ​​कि नए पैन कार्ड बनवाते है तो अपने पैन को आधार से जोड़ना अनिवार्य होता है। यदि आपके आधार कार्ड विवरण में स्पेलिंग मिस्टेक्स, हैं  तो आप दोनों को लिंक करने में सक्षम नहीं हो सकते हैं।

आइये देखें आधार कार्ड को कैसे अपडेट करना है –

  1. आधार के सेल्फ सर्विस अपडेट पोर्टल (SSUP) पर जाएं।
  2. निर्देशों को सावधानी से पढ़ने के बाद “आगे बढ़ें” बटन पर क्लिक करें।
  3. अपना 12 अंकों का आधार नंबर दर्ज करें
  4. बॉक्स में दिए गए Text verification code को दर्ज करें | और Send OTP या Enter TOTP पर क्लिक करें।
  5. UIDAI  के डेटाबेस में पंजीकृत फोन नंबर पर एक ओटीपी भेजा जाएगा।
  6. अपने आधार खाते में लॉग इन करने के लिए इस ओटीपी को दर्ज करें।
  7. लगातार  आप मान्य करने के लिए TOTP  सुविधा का उपयोग कर सकते हैं।
  8. विकल्प “पता” पर टिक करें  और “सबमिट” करें।
  9. अपना आवासीय पता (जैसे पते का पता (पीओए)) साझा करें।
  10. अपडेट रिक्वेस्ट सबमिट करें” बटन पर क्लिक करें।
  11. यदि पते को संशोधित करने की आवश्यकता है, तो ” संशोधित करें ” विकल्प पर क्लिक करें।
  12. अब घोषणा विकल्प की जाँच करें और फिर “आगे बढ़ें” बटन का चयन करें।
  13. POA सत्यापन के लिए प्रस्तुत किए जाने वाले दस्तावेज़ (document) प्रकार का चयन करें।
  14. Address proof स्कैन की हुई कॉपी अपलोड करें और सबमिट करें।
  15. पुष्टि संवाद (Confirmation dialog) पढ़ने के बाद “हां” विकल्प पर क्लिक करें।
  16. अपने विवरण को सत्यापित करने के लिए BPO सेवा प्रदाता चुनें और “सबमिट करें” बटन चुनें।
  17. बीपीओ सेवा प्रदाता निरीक्षण (inspection) करता है यदि फॉर्म में उल्लिखित विवरण पीओए के साथ मेल खाता है और UIDAI के आपके अनुरोध को आगे बढ़ाता है।
  18. बाद में  प्राधिकरण (Authority) ने अपडेट अनुरोध स्वीकार कर लिया और एक पावती पर्ची साझा की (Shared acknowledgment slip)।
  19. दी गई पर्ची में अपडेट रिक्वेस्ट नंबर (URN) है।

अद्यतन (Updates) के बाद  नया संस्करण डाउनलोड किया जाता है और भविष्य के उपयोग के लिए इसका प्रिंट आउट लिया जाता है।

हालाँकि  सभी आवश्यक Updates या सुधार ऑनलाइन नहीं हो सकते हैं। तो उस समय  किसी को अपने आधार कार्ड में आवश्यक परिवर्तन करना होता है  तो Updates के लिए  नामांकन केंद्र पर जाने की आवश्यकता होती है।

नाम परिवर्तन जानकारी

नामांकन केंद्र पर जाकर आधार कार्ड विवरण अपडेट करने की प्रक्रिया –

  1. नामांकन केंद्र में प्रदान किया गया आधार सुधार फॉर्म भरें।
  2. सुनिश्चित करें कि आप सही जानकारी दर्ज करते हैं न कि उद्योग आधार में वर्णित (Described) जानकारी।
  3. अपने Updates के अनुरोध को सत्यापित करना होता है फिर  स्व-सत्यापन (Self verification) के साथ प्रमाण प्राप्त करें।
  4. आवश्यक दस्तावेजों ( documents) के साथ फॉर्म जमा करें ।
  5. यदि आवेदक  अपडेट या सुधार करता है तो सरकार हर एनरोलमेंट सेंटर की यात्रा के लिए न्यूनतम राशि का शुल्क लेती है।

इसके अलावा  आप नामांकन केंद्र पर अपने बायोमेट्रिक डेटा , छवि आदि सहित सभी प्रकार के विवरण अपडेट प्राप्त कर सकते हैं।

आधार कार्ड विवरण को पोस्ट के माध्यम से अद्यतन(Updates) करने की प्रक्रिया –

ऑफ़लाइन अपडेट करने के लिए आधार विवरण प्राप्त कर सकते हैं  UIDAI  को डाक के माध्यम से अनुरोध (request) भेज सकते हैं।

  1. सबसे पहलेआधार डेटा अपडेट / सुधार फॉर्म ऑनलाइन डाउनलोड करें।
  2. आवश्यक विवरण भरें जिसे आप अपने आधार कार्ड में अपडेट या बदलना चाहते हैं।
  3. फिर  दस्तावेजों के कई फोटोकॉपी प्राप्त करें जहां अनुरोधित (Requested) परिवर्तन मान्य (Change valid) हैं।
  4. अंत में UIDAI कार्यालय के डाक पते पर दस्तावेजों ( documents) के साथ फॉर्म भेजें।

अपडेटेड आधार कार्ड होने के विभिन्न लाभ हैं। 

  1. भारतीय नागरिक के लिए आधार कार्ड सबसे मूल्यवान पहचान पत्र है।
  2. कोई भी (ऑनलाइन या ऑफलाइन) से केवल सरकार द्वारा जारी किए गए  है ऐसे दस्तावेज़ को लागू और प्राप्त कर सकते है। इसके अलावा कोई भी इसे ऑनलाइन भी लागू और अपडेट कर सकता है। कोई व्यक्ति ऑनलाइन आधार या ई-आधार डाउनलोड कर सकता है और इसे भौतिक आधार के रूप में उपयोग कर सकता है। इसी तरह सभी सूचनाओं को Updates करते है इसके साथ  ई-आधार दस्तावेज़ को घर पर मूल दस्तावेज रख सकते  है या आसानी के साथ कहीं और सुरक्षित रख सकते हैं।
  3. एक डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र की उपलब्धता । भारत के पेंशनर्स इसे सरकार से प्राप्त करते हैं। पेंशनरों को अपनी पेंशन प्राप्त करने के लिए शारीरिक रूप से उपस्थित होने की आवश्यकता नहीं है। पेंशन एजेंसी पेंशनभोगियों के आधार यूआईएन (विशिष्ट पहचान संख्या) का उपयोग कर सकती है।और   उन्हें पेंशन प्रदान करने के लिए कर सकती है। साथ ही कोई व्यक्ति अपने पेंशन खाते को आधार खाते से जोड़ सकता है और अपनी भविष्य निधि राशि बैंक खाते में प्राप्त कर सकता है।
  4. आधार के साथ पासपोर्ट के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया भी आसान हो जाती है। पासपोर्ट आवेदन के लिए आवासीय और पहचान प्रमाण दोनों ही आधार के साथ दिए गए हैं।
  5. एक पंजीकृत आधार के साथ नागरिक सभी आवंटित (Allotted) सरकारी लाभों और Subsidy का लाभ उठा सकते हैं। आप  एलपीजी सब्सिडी प्राप्त करने  के लिए आधार को एलपीजी 17 अंकों के पिन के साथ जोड़ सकते हैं।
  6. इसके अलावा बैंक खाता खोलने के लिए आधार कार्ड उपयोगी है।

इसलिए  हम अनुशंसा (Recommendation) करते हैं कि सभी अपने आधार कार्ड को सही जानकारी के साथ अपडेट करें | ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि वे सभी उपर्युक्त बिंदुओं ( above points) और कई अन्य लोगों के साथ लाभान्वित हैं।

 

 

0

No Record Found
शेयर करें