ट्रेडमार्क पब्लिक सर्च

Last Updated at: July 20, 2020
1626
ट्रेडमार्क पब्लिक सर्च
  1. ट्रेडमार्क पब्लिक सर्च के विभिन्न प्रकार क्या हैं?

  2. माल और सेवाओं का वर्गीकरण

  3. ट्रेडमार्क पब्लिक सर्च कैसे करें

  4. पब्लिक सर्च क्यों आवश्यक है ?

 

ट्रेडमार्क में आमतौर पर एक विशेष डिजाइन , प्रतीक , चिह्न या अभिव्यक्ति शामिल होती है। यह किसी एक कंपनी या निर्माता की  सामान या सेवाए होती है उनको दूसरे से अलग करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। ट्रेडमार्क होना किसी भी व्यवसाय के लिए फायदेमंद है और इसलिए  ट्रेडमार्क का लाभ उठाना महत्वपूर्ण है। ट्रेडमार्क का दावा करने से पहले  किसी को यह पता होना चाहिए कि वांछित (Desired) ट्रेडमार्क उपलब्ध है या पहले से ही लिया गया है। ट्रेडमार्क की उपलब्धता को जानने के लिए एक ट्रेडमार्क पब्लिक सर्च आवश्यक है। पब्लिक सर्च करने के लिए  माल और सेवाओं, मापदंडों या पब्लिक सर्च के प्रकारों का वर्गीकरण और पब्लिक सर्च करने की आवश्यकता का विश्लेषण किया जाना चाहिए।

ट्रेडमार्क पब्लिक सर्च (सार्वजनिक खोज) के प्रकार

पब्लिक सर्च ट्रेडमार्क को तीन मापदंडों या श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है, जिन्हें नीचे वर्णित किया गया है।

  • वर्डमार्क सर्च 

वर्डमार्क खोज उन वस्तुओं और सेवाओं पर लागू होती है जिन्हें वर्डमार्क के साथ पहचाना जाना है। यह किसी भी शब्द या निशान को इंगित करता है जो किसी भी सामान या सेवाओं को पहचानने या अलग करने में मदद करता है। शब्दों में शब्द, अक्षर, संख्या या कोई भी टाइपोग्राफिक वर्ण शामिल हैं। यदि किसी सामान या सेवा प्रदान करने वाली कंपनी के उत्पाद का नाम शब्द-आधारित है, तो यह शब्द-आधारित ट्रेडमार्क के अंतर्गत आता है।

  • वीना कोड सर्च

वीना कोड ट्रेडमार्क के आलंकारिक (decorative) तत्वों के वर्गीकरण के लिए एक अंतरराष्ट्रीय मानक है। इसलिए  एक छवि, चित्रणग्राफिक लेबल, सचित्र तत्व या पूर्वोक्त (Aforesaid) वस्तुओं के संयोजन जैसे आलंकारिक तत्वों के लिए विएना कोड सर्च लागू है। ट्रेडमार्क कार्यालय किसी भी आलंकारिक तत्व वाले ट्रेडमार्क आवेदक के लिए एक वीणा कोड प्रदान करता है। वियना कोड खोज करते समय  किसी को वियना कोड दर्ज करना चाहिए| जिसके बाद माल या सेवा का वर्ग (category) होगा। भारत में  इस अंतरराष्ट्रीय वर्गीकरण मानक (standard ) को आलंकारिक चिह्नों के लिए अनुसरण (Pursuance) किया जाता है।

  • ध्वन्यात्मक सर्च ( Phonetic search) 

एक ही उच्चारण के साथ ट्रेडमार्क के मामलों में ध्वन्यात्मक खोज की जाती है। समान-ध्वनि वाले ट्रेडमार्क भ्रम पैदा कर सकते हैं। इनके लिए ध्वन्यात्मक खोज की जाती है। दो ट्रेडमार्क एक ही नाम के हो सकते हैं लेकिन विभिन्न वर्तनी (Spelling) के साथ। ग्राहक या लक्षित दर्शक (Targeted viewer) दूसरे के लिए एक ट्रेडमार्क को भ्रमित (Confused ) कर सकते हैं, जिससे लक्षित दर्शकों के ग्राहकों को नुकसान हो सकता है और इसलिए, कंपनी का नुकसान हो सकता है। ट्रेडमार्क के लिए आवेदन करने से पहले एक ध्वन्यात्मक खोजना चाहिए | ऐसा करने से भ्रम की स्थिति से बचने में मदद मिलेगी।

ऑनलाइन TRADEMARK पंजीकरण 

माल और सेवाओं का वर्गीकरण

ट्रेडमार्क खोज के लिए वस्तुओं या सेवाओं का वर्गीकरण आवश्यक है। NICE के अनुसार, ट्रेडमार्क पंजीकरण के लिए एक अंतर्राष्ट्रीय वर्गीकरण मानक  45 ट्रेडमार्क श्रेणियां हैं कुल 45 में से 34 श्रेणियां माल का प्रतिनिधित्व (Representation) करती हैं और अन्य 11 श्रेणियां सेवाओं के लिए हैं।

माल का वर्गीकरण निम्नलिखित तरीके से किया जाता है –

  • तैयार माल: तैयार माल को उनके उद्देश्य या कार्य के आधार पर वर्गीकृत किया जाता है।
  • बहु उद्देश्यीय तैयार माल: इसे इसके कार्य या माल के उत्पादन में उपयोग की जाने वाली सामग्रियों के आधार पर वर्गीकृत किया जाता है।
  • कच्चे माल: वे उस सामग्री के आधार पर वर्गीकृत किए जाते हैं, जिसमें वे शामिल होते हैं।
  • एकाधिक सामग्री: कई सामग्रियों के मामले में, वर्गीकरण पूर्ववर्ती सामग्री के आधार पर किया जाता है।
  • माल जो किसी अन्य उत्पाद का हिस्सा बनता है: माल को उत्पाद के रूप में उसी श्रेणी में वर्गीकृत किया जाता है।

सेवा का वर्गीकरण सेवा में शामिल गतिविधियों के आधार पर किया जाता है। इसके अलावा  किराये की सेवाओं को उसी श्रेणी में वर्गीकृत किया जाता है  जैसे किराए की वस्तुओं का उपयोग करके प्रदान की जाने वाली सेवाएं। जानकारी, सलाह या परामर्श प्रदान करने वाली सेवाएं उसी श्रेणी में आती हैं  जिसमें सूचना , सलाह या परामर्श से जुड़े मामले आते हैं।

ट्रेडमार्क पब्लिक सर्च कैसे करे 

ट्रेडमार्क पब्लिक सर्च दो तरीकों से की जाती है। ट्रेडमार्क खोज के लिए पहली विधि, अर्थात्, प्रारंभिक खोज भारतीय ट्रेडमार्क डेटाबेस पर पब्लिक सर्च (सार्वजनिक खोज) ऑनलाइन रिकॉर्ड का उपयोग करके की जा सकती है। या आप हमारी वकिलसर्च की वेबसाइट पे जाकर यहाँ क्लिक करके सर्च कर सकते हैं 

पब्लिक सर्च की आवश्यकता क्यों है ?

आप ट्रेडमार्क सर्च करके निम्नलिखित फेफड़े प्राप्त कर सकते हैं 

  • भ्रम से बचें

सबसे पहले  इसी तरह के जो  ट्रेडमार्क है किसी कंपनी के लक्षित दर्शकों (Target audience) के बीच समस्याएं पैदा कर सकते हैं। यह भ्रम व्यवसाय के साथ-साथ कंपनी की प्रतिष्ठा (Prestige) को भी प्रभावित कर सकता है। ट्रेडमार्क पंजीकरण के लिए आवेदन करने से पहले , एक पब्लिक सर्च से भ्रम की संभावना कम हो जाएगी।

  • कानूनी समस्याओं से बचें

किसी अन्य कंपनी के समान ट्रेडमार्क का उपयोग करने से कानूनी समस्याएं हो सकती हैं। कोई भी कंपनी एक ही ट्रेडमार्क के साथ काम करने वाली कंपनी के खिलाफ कानूनी आरोप लगा सकती है। ट्रेडमार्क स्वामी (owner) की अनुमति के बिना , पंजीकृत ट्रेडमार्क का उपयोग करना कानूनी अपराध है।

  • सर्वश्रेष्ठ ट्रेडमार्क का चयन करें

किसी भी कंपनी या व्यवसाय के लिए एक अच्छा ट्रेडमार्क प्राप्त करना महत्वपूर्ण है क्योंकि यह कंपनी या व्यवसाय के चेहरे (face) और ब्रांड मूल्य को स्थापित करने में सहायक होता  है। ट्रेडमार्क पंजीकरण के लिए आवेदन करने से पहले जो  सार्वजनिक खोज की जाती है उससे सर्वोत्तम-अनुकूल (Best suited ) ट्रेडमार्क का लाभ उठाने में मदद मिलेगी।

सार्वजनिक खोज ऑनलाइन रिकॉर्ड का उपयोग किया जाता है यह  पहले से पंजीकृत ट्रेडमार्क खोजने की विधि है। कोई ट्रेडमार्क जो पहले से ही किसी अन्य कंपनी या व्यवसाय द्वारा पंजीकृत किया गया है  उसी ट्रेडमार्क का उपयोग करने से बच सकता है।  पब्लिक सर्च  एक अद्वितीय (Unique) है  विशिष्ट (Specific) ट्रेडमार्क खोजने में सक्षम (capable) होता है । हालाँकि  किसी को आश्चर्य हो सकता है कि ट्रेडमार्क पंजीकरण के लिए आवेदन करने से पहले केवल प्रारंभिक ट्रेडमार्क खोज ही पर्याप्त है। प्रारंभिक खोज में केवल संभावित (potential) संघर्ष या कानूनी लड़ाई दिखाई देती है ।

एक पेशेवर एजेंसी की मदद से पूर्ण-खोज की जाती है  किसी भी अन्य ट्रेडमार्क स्वामी के साथ किसी भी संघर्ष की सभी संभावनाओं को पूरा करती है । भारत में  ट्रेडमार्क को दो प्रतीकों में वर्गीकृत किया जाता है, अर्थात्  “TM” और “R”। “टीएम” एक अनंतिम (Provisional) ट्रेडमार्क की तरह काम करता है  जिसका उपयोग अपंजीकृत (Unregistered) ट्रेडमार्क द्वारा किया जाता है। दूसरी ओर  “आर” एक पंजीकृत ट्रेडमार्क का प्रतीक है  जिसका उपयोग पंजीकृत मालिक द्वारा किया जाता है।

 

0

ट्रेडमार्क पब्लिक सर्च

1626
  1. ट्रेडमार्क पब्लिक सर्च के विभिन्न प्रकार क्या हैं?

  2. माल और सेवाओं का वर्गीकरण

  3. ट्रेडमार्क पब्लिक सर्च कैसे करें

  4. पब्लिक सर्च क्यों आवश्यक है ?

 

ट्रेडमार्क में आमतौर पर एक विशेष डिजाइन , प्रतीक , चिह्न या अभिव्यक्ति शामिल होती है। यह किसी एक कंपनी या निर्माता की  सामान या सेवाए होती है उनको दूसरे से अलग करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। ट्रेडमार्क होना किसी भी व्यवसाय के लिए फायदेमंद है और इसलिए  ट्रेडमार्क का लाभ उठाना महत्वपूर्ण है। ट्रेडमार्क का दावा करने से पहले  किसी को यह पता होना चाहिए कि वांछित (Desired) ट्रेडमार्क उपलब्ध है या पहले से ही लिया गया है। ट्रेडमार्क की उपलब्धता को जानने के लिए एक ट्रेडमार्क पब्लिक सर्च आवश्यक है। पब्लिक सर्च करने के लिए  माल और सेवाओं, मापदंडों या पब्लिक सर्च के प्रकारों का वर्गीकरण और पब्लिक सर्च करने की आवश्यकता का विश्लेषण किया जाना चाहिए।

ट्रेडमार्क पब्लिक सर्च (सार्वजनिक खोज) के प्रकार

पब्लिक सर्च ट्रेडमार्क को तीन मापदंडों या श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है, जिन्हें नीचे वर्णित किया गया है।

  • वर्डमार्क सर्च 

वर्डमार्क खोज उन वस्तुओं और सेवाओं पर लागू होती है जिन्हें वर्डमार्क के साथ पहचाना जाना है। यह किसी भी शब्द या निशान को इंगित करता है जो किसी भी सामान या सेवाओं को पहचानने या अलग करने में मदद करता है। शब्दों में शब्द, अक्षर, संख्या या कोई भी टाइपोग्राफिक वर्ण शामिल हैं। यदि किसी सामान या सेवा प्रदान करने वाली कंपनी के उत्पाद का नाम शब्द-आधारित है, तो यह शब्द-आधारित ट्रेडमार्क के अंतर्गत आता है।

  • वीना कोड सर्च

वीना कोड ट्रेडमार्क के आलंकारिक (decorative) तत्वों के वर्गीकरण के लिए एक अंतरराष्ट्रीय मानक है। इसलिए  एक छवि, चित्रणग्राफिक लेबल, सचित्र तत्व या पूर्वोक्त (Aforesaid) वस्तुओं के संयोजन जैसे आलंकारिक तत्वों के लिए विएना कोड सर्च लागू है। ट्रेडमार्क कार्यालय किसी भी आलंकारिक तत्व वाले ट्रेडमार्क आवेदक के लिए एक वीणा कोड प्रदान करता है। वियना कोड खोज करते समय  किसी को वियना कोड दर्ज करना चाहिए| जिसके बाद माल या सेवा का वर्ग (category) होगा। भारत में  इस अंतरराष्ट्रीय वर्गीकरण मानक (standard ) को आलंकारिक चिह्नों के लिए अनुसरण (Pursuance) किया जाता है।

  • ध्वन्यात्मक सर्च ( Phonetic search) 

एक ही उच्चारण के साथ ट्रेडमार्क के मामलों में ध्वन्यात्मक खोज की जाती है। समान-ध्वनि वाले ट्रेडमार्क भ्रम पैदा कर सकते हैं। इनके लिए ध्वन्यात्मक खोज की जाती है। दो ट्रेडमार्क एक ही नाम के हो सकते हैं लेकिन विभिन्न वर्तनी (Spelling) के साथ। ग्राहक या लक्षित दर्शक (Targeted viewer) दूसरे के लिए एक ट्रेडमार्क को भ्रमित (Confused ) कर सकते हैं, जिससे लक्षित दर्शकों के ग्राहकों को नुकसान हो सकता है और इसलिए, कंपनी का नुकसान हो सकता है। ट्रेडमार्क के लिए आवेदन करने से पहले एक ध्वन्यात्मक खोजना चाहिए | ऐसा करने से भ्रम की स्थिति से बचने में मदद मिलेगी।

ऑनलाइन TRADEMARK पंजीकरण 

माल और सेवाओं का वर्गीकरण

ट्रेडमार्क खोज के लिए वस्तुओं या सेवाओं का वर्गीकरण आवश्यक है। NICE के अनुसार, ट्रेडमार्क पंजीकरण के लिए एक अंतर्राष्ट्रीय वर्गीकरण मानक  45 ट्रेडमार्क श्रेणियां हैं कुल 45 में से 34 श्रेणियां माल का प्रतिनिधित्व (Representation) करती हैं और अन्य 11 श्रेणियां सेवाओं के लिए हैं।

माल का वर्गीकरण निम्नलिखित तरीके से किया जाता है –

  • तैयार माल: तैयार माल को उनके उद्देश्य या कार्य के आधार पर वर्गीकृत किया जाता है।
  • बहु उद्देश्यीय तैयार माल: इसे इसके कार्य या माल के उत्पादन में उपयोग की जाने वाली सामग्रियों के आधार पर वर्गीकृत किया जाता है।
  • कच्चे माल: वे उस सामग्री के आधार पर वर्गीकृत किए जाते हैं, जिसमें वे शामिल होते हैं।
  • एकाधिक सामग्री: कई सामग्रियों के मामले में, वर्गीकरण पूर्ववर्ती सामग्री के आधार पर किया जाता है।
  • माल जो किसी अन्य उत्पाद का हिस्सा बनता है: माल को उत्पाद के रूप में उसी श्रेणी में वर्गीकृत किया जाता है।

सेवा का वर्गीकरण सेवा में शामिल गतिविधियों के आधार पर किया जाता है। इसके अलावा  किराये की सेवाओं को उसी श्रेणी में वर्गीकृत किया जाता है  जैसे किराए की वस्तुओं का उपयोग करके प्रदान की जाने वाली सेवाएं। जानकारी, सलाह या परामर्श प्रदान करने वाली सेवाएं उसी श्रेणी में आती हैं  जिसमें सूचना , सलाह या परामर्श से जुड़े मामले आते हैं।

ट्रेडमार्क पब्लिक सर्च कैसे करे 

ट्रेडमार्क पब्लिक सर्च दो तरीकों से की जाती है। ट्रेडमार्क खोज के लिए पहली विधि, अर्थात्, प्रारंभिक खोज भारतीय ट्रेडमार्क डेटाबेस पर पब्लिक सर्च (सार्वजनिक खोज) ऑनलाइन रिकॉर्ड का उपयोग करके की जा सकती है। या आप हमारी वकिलसर्च की वेबसाइट पे जाकर यहाँ क्लिक करके सर्च कर सकते हैं 

पब्लिक सर्च की आवश्यकता क्यों है ?

आप ट्रेडमार्क सर्च करके निम्नलिखित फेफड़े प्राप्त कर सकते हैं 

  • भ्रम से बचें

सबसे पहले  इसी तरह के जो  ट्रेडमार्क है किसी कंपनी के लक्षित दर्शकों (Target audience) के बीच समस्याएं पैदा कर सकते हैं। यह भ्रम व्यवसाय के साथ-साथ कंपनी की प्रतिष्ठा (Prestige) को भी प्रभावित कर सकता है। ट्रेडमार्क पंजीकरण के लिए आवेदन करने से पहले , एक पब्लिक सर्च से भ्रम की संभावना कम हो जाएगी।

  • कानूनी समस्याओं से बचें

किसी अन्य कंपनी के समान ट्रेडमार्क का उपयोग करने से कानूनी समस्याएं हो सकती हैं। कोई भी कंपनी एक ही ट्रेडमार्क के साथ काम करने वाली कंपनी के खिलाफ कानूनी आरोप लगा सकती है। ट्रेडमार्क स्वामी (owner) की अनुमति के बिना , पंजीकृत ट्रेडमार्क का उपयोग करना कानूनी अपराध है।

  • सर्वश्रेष्ठ ट्रेडमार्क का चयन करें

किसी भी कंपनी या व्यवसाय के लिए एक अच्छा ट्रेडमार्क प्राप्त करना महत्वपूर्ण है क्योंकि यह कंपनी या व्यवसाय के चेहरे (face) और ब्रांड मूल्य को स्थापित करने में सहायक होता  है। ट्रेडमार्क पंजीकरण के लिए आवेदन करने से पहले जो  सार्वजनिक खोज की जाती है उससे सर्वोत्तम-अनुकूल (Best suited ) ट्रेडमार्क का लाभ उठाने में मदद मिलेगी।

सार्वजनिक खोज ऑनलाइन रिकॉर्ड का उपयोग किया जाता है यह  पहले से पंजीकृत ट्रेडमार्क खोजने की विधि है। कोई ट्रेडमार्क जो पहले से ही किसी अन्य कंपनी या व्यवसाय द्वारा पंजीकृत किया गया है  उसी ट्रेडमार्क का उपयोग करने से बच सकता है।  पब्लिक सर्च  एक अद्वितीय (Unique) है  विशिष्ट (Specific) ट्रेडमार्क खोजने में सक्षम (capable) होता है । हालाँकि  किसी को आश्चर्य हो सकता है कि ट्रेडमार्क पंजीकरण के लिए आवेदन करने से पहले केवल प्रारंभिक ट्रेडमार्क खोज ही पर्याप्त है। प्रारंभिक खोज में केवल संभावित (potential) संघर्ष या कानूनी लड़ाई दिखाई देती है ।

एक पेशेवर एजेंसी की मदद से पूर्ण-खोज की जाती है  किसी भी अन्य ट्रेडमार्क स्वामी के साथ किसी भी संघर्ष की सभी संभावनाओं को पूरा करती है । भारत में  ट्रेडमार्क को दो प्रतीकों में वर्गीकृत किया जाता है, अर्थात्  “TM” और “R”। “टीएम” एक अनंतिम (Provisional) ट्रेडमार्क की तरह काम करता है  जिसका उपयोग अपंजीकृत (Unregistered) ट्रेडमार्क द्वारा किया जाता है। दूसरी ओर  “आर” एक पंजीकृत ट्रेडमार्क का प्रतीक है  जिसका उपयोग पंजीकृत मालिक द्वारा किया जाता है।

 

0

No Record Found
शेयर करें