इंडिया में नेम चेंज प्रासेज -एक कंप्लीट 3-स्टेज गाइड

Last Updated at: Nov 03, 2020
443
नेम चेंज प्रासेज

अगर आप अपना नेम चेंज करना चाहते हैं तो आप बिलकुल सही जगह पे हैं। सरल तरीके से अपना आप नाम ऑनलाइन चेंज कर सकते हैं|

इंडिया  में नेम चेंज प्रासेज

तीन अनिवार्य चीजें हैं  जिन्हें नेम चेंज को अथराइज्ड करने के लिए किए जाने की आवश्यकता है|

  1. एफ़िडेविड प्रजेंट करना- नेम चेंज के लिए एक एफ़िडेविड तैयार करना होगा।
  2. एडवरटाइज़मेंट – एक डिक्लेयरेशन को न्यूज पेपर में पब्लिश  किया जाना चाहिए।
  3. गज़ट नोटिफिकेशन – नेम चेंज के संबंध में एक नोटिफिकेशन भारत के गज़ट में पब्लिश की जानी चाहिए।

नोटराजपत्रगजट का अर्थ है किसी भी प्रकार का पत्रिका , न्यूज़पेपर जहां यह अफिसियली रूप से पब्लिश होता है।

एफ़िडेविड प्रजेंट करना

लीगल प्रासेज में पहला स्टेप एफ़िडेविड प्रजेंट करना है। जरूरतमंद करने के लिए आपको एक नोटरी से संपर्क करना होगा। निम्नलिखित स्टेप प्रासेज को ईजी और क्लियर करेंगे |

  1. अपनी लोकल नोटरी का अप्रूवल करें और अपने रिक्वेस्ट का मेंसन करें।
  2. नोटरी आवश्यक प्राइस के स्टाम्प पेपर का सजेशन देगा, जिस पर नेम चेंज के लिए एफ़िडेविड बनाया गया है।
  3. एक बार जब आपके पास डाकुमेंट है तो आप निम्न डिटेल प्रोवाइड करने की आवश्यकता है |
    a.नेमऔर न्यू नेम
    b.करेंट एड्रेस
    c.रीज़न नेम चेंज  (एस्ट्रोलोजी ,न्यूमेरोलजी ,मैरिज आदि) के लिए
  4. एक बार एफ़िडेविड एक प्लेन स्टाम्प पेपर पर प्रिंटेड होने के बाद इसे टू विट्नेसेस द्वारा सिग्नेचर करने की आवश्यकता होती है।लीगल प्रासेज को गज़टेड ऑफिसर  रैंक के दो व्यक्तियों द्वारा सिग्नेचर करवाना है श्योर करें कि आपके पास उनके सिग्नेचर हैं साथ ही उनके स्टाम्प (रबर स्टैम्प)।
  5. एक नेम की प्रोसेज एक सेंट्रल गवर्नमेंट कर्मचारी के मामले में होम मिनिस्टरी के ओएमयू नंबर – 190016/1/87-एस्टी के साथ बदले में करने की आवश्यकता है।दिनांक 12.03.1987। एडवाइस के लिए नोटरी से पूछें या डाएरेक्सन पढ़ें ।
  6. मैरिड फ़ीमेल अपने सरनेम चेंज सकते हैं या नाम के फ़र्स्ट लेटर के रूप में अपने हसबैन्ड का नाम एड करना चाहते हैं जो निम्न डिटेल प्रदान करने के लिए आवश्यक हैं
    ए- पिता के नेम और एड्रेस के साथ ओल्ड नाम
    बी -पति के नाम और एड्रेस के साथ एक नया नेम
    सी- मैरिज डेट।
  7. न्यूज़पेपर पब्लिकेशन

यदि आपने एफ़िडेविड बनाया है तो नेक्स्ट  स्टेप लोकल न्यूज़पेपर में एक एड या  नोटिफिकेशन पब्लिकेशन करना है कि आपने अपना नेम चेंज कर दिया है। इसके लिए, आपको दो न्यूज़पेपर का चुज करना होगा | एक स्टेट की आफिसीएल लंगवेज़ में पब्लिस होगा और दूसरा, एक अंग्रेजी दैनिक।

फार एकजाम्पल  यदि आप मध्य प्रदेश में रहते हैं तो आप दैनिक भास्कर और टाइम्स ऑफ इंडिया / हिंदुस्तान टाइम्स का ऑप्शन चुन सकते हैं । यदि आप तमिलनाडु से हैं तो आप दिनाकरन / दीना थांथी और द हिंदू / इंडियन एक्सप्रेस का ऑप्शन चुन सकते हैं ।

नेम चेंज

आवश्यकता दो पापुलर दैनिक लेने और उन्हें एक रिक्वेस्ट भेजने के लिए है निम्नलिखित डिटेल बताते हुए
a । आपका न्यू नेम
b। आपका ओल्ड नेम
c। डेट ऑफ बर्थ
d। एड्रेस

गज़ट नोटिफिकेशन

अब हम एंड में प्रापर्ली से हैं बस नेम चेंज गज़ट प्रासेज बैलेंस है। एक बार जब आपका गजट नोटिफिकेशन पब्लिश हो जाता है तो आपका नेम चेंज लीगल रूप से कंप्लीट हो जाएगा।

नेम चेंज गजट इन्फार्मेशन गवर्नमेंट के साथ इम्प्लॉइमेंट  में और अन्य लोगों के लिए आप्शनल के लिए मेंडेटरी है। हालाँकि यह आपके चेंज का एनफ़ सर्टिफिकेट  है। चूंकि इसमें सिर्फ पब्लिश के लिए कुछ डाकुमेंट सेंडीग  इंकलुड़ है  इसलिए इसके साथ गुजरने में अंडरस्टैंडिंग   हो सकती है।

यहाँ आपको गज़ट नोटिफिकेशन प्रजेंटेशन करने की नीड़  है |

  • पब्लिस डिपार्टमेन्ट के साथ अवेलेबल ‘डीड चेंज नेम के फार्म की एक कॉपी ले;
  • एल्टर्नेटिव रूप से नेम चेंज की आवश्यकता बताते हुए, आपसे एक डिक्लेयरेशन पेपर
  • डेट के साथ पब्लिश एड की चीफ़ कॉपी ले जाएं।(दोनों एड को सबमिट करें)
  • सीमलेस प्रासेज से आगे बढ़ने के लिए श्योर करने के लिए दो अटेस्टेड कॉपी को ले जाएं|
  • एड्रेस और आइडेंटी सर्टिफिकेट ले जाएं (यह एड्रेस उसी तरह होना चाहिए जैसा कि न्यूज़पेपर में पब्लिश और एफ़िडेविड में दिया गया है। एड्रेस के किसी भी चेंज के रिजल्टींग अप्लीकेशन को रिजेक्ट  किया जा सकता है)।