अपने बिज़नेस को MSME रेजिस्ट्रेशन करवाएं और पाएं 9 लाभ

Last Updated at: July 20, 2020
379
अपने बिज़नेस को MSME रेजिस्ट्रेशन करवाएं और पाएं 9 लाभ
अपने बिज़नेस को MSME रेजिस्ट्रेशन करवाएं और पाएं 9 लाभ

माइक्रो, स्माल और मध्यम आकार (Micro, Small and Medium Size) के उद्योग (Enterprises) MSME पंजीकरण (Registration) प्राप्त कर सकते हैं| विशेष रूप से ये प्रमुख व्यावसायिक इकाइयां (business units) हैं जो हमारी अर्थव्यवस्था और इसकी वृद्धि (Growth) को चलाते हैं। MSME पंजीकरण एक ऑनलाइन प्रक्रिया है और यह पेशेवरों से बहुत अधिक आसान मदद की मांग करती है। यहाँ  हम आपके व्यापार के लिए MSME Registration प्राप्त करने के 9 प्रमुख MSME  लाभों को बताएँगे | 

अपनी पिछली पोस्ट में  हमने MSME पंजीकरण प्राप्त करने की प्रक्रिया और अन्य विवरणों पर चर्चा की है और मोटे तौर पर इस बात पर ध्यान दिया है कि हमें अपनी अर्थव्यवस्था और इसके विकास के लिए सूक्ष्म, लघु, और मध्यम इकाइयों की आवश्यकता क्यों है। इस ब्लॉग में  हम MSME पंजीकरण के शीर्ष नौ लाभों को सूचीबद्ध (Listed) करते हैं जिन्हें MSME पंजीकरण के अनुदान (Grant) के साथ लाभ उठाया जा सकता है। इनमें मौद्रिक (Monetary) के साथ-साथ व्यापार और उद्यमशीलता (Entrepreneurship) विकास से संबंधित गैर-मौद्रिक लाभ (Non monetary benefits) शामिल हैं।

MSME पंजीकरण पर निशुल्क विशेषज्ञ गाइड

नीचे आपको आवश्यक और स्टार्ट-अप फ्रेंडली सेवाओं की सूची मिलेगी| जैसे कि खाद्य लाइसेंस के लिए आवेदन कैसे करें| ट्रेडमार्क पंजीकरण या पंजीकरण के लिए प्रक्रिया के लिए समय निकालें।

कंपनी रेजिस्ट्रेशन करें

आइए अब हम एमएसएमई पंजीकरण के 9 आवश्यक लाभों को देखें। MSME पंजीकरण लाभ आपके व्यवसाय में विकास होता है और  सुधार और उचित व्यवसाय मॉडल बनाने में आपकी बहुत मदद करेगा।

  1. प्राथमिकता उधार –
  2. Priority Credit

हमारा पहला MSME लाभ प्राथमिकता उधार है। चाहे आप अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी (state of the art technology) व्यवसाय के गर्व के मालिक हों या मसाला पैकिंग कंपनी, ग्रामीण महिलाओं को रोजगार, ऋण और ऋण कुछ ऐसा है जो आपके व्यवसाय को अनिवार्य रूप से दीर्घकालिक (Long term) और अल्पकालिक (temporary) वित्तपोषण (Financing) के लिए आवश्यक होता है । भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा जारी किए गए निर्देशों के आधार पर (Based on instructions) बैंकों के पास कुछ निश्चित फंड (Fixed fund) होते हैं जिन्हें MSME व्यवसायों को अनिवार्य रूप से दिया जाना चाहिए। कम बाधाओं के साथ प्राथमिकता के आधार पर इस ऋण का लाभ उठाते है तो MSME प्रमाणपत्र का उत्पादन करने से लाभ होता है।

  1. कम ब्याज दर और उपलब्धता और अधिक क्रेडिट तक पहुंच-

संपार्श्विक सुरक्षा  , Collateral security (ऋण के खिलाफ सुरक्षा के रूप में दी गई कोई भी संपत्ति / नकदी) की जब अनुपस्थिति होती है तो ऐसे  में  कई व्यवसाय मालिकों को अपने उद्योग शुरू करना होता है उस समय  के लिए ऋण को सुरक्षित करना बहुत मुश्किल हो सकता है। हालांकि MSME पंजीकरण के साथ  सभी बैंकों को विशेष रूप से सामान्य से कम ब्याज दरों पर ऋण की पेशकश करने का निर्देश दिया जाता है और कोई भी अपनी वित्तीय जरूरतों को पूरा कर सकता है इसके लिए कई बैंकिंग संस्थानों से यह लाभ उठाने में सक्षम हो सकता है।

  1. आयकर में छूट (3. Income tax exemption)

कई एमएसएमई पंजीकरण लाभ हैं जो इस प्रमाण पत्र की अनुपस्थिति (Absence) में कर के लिए आकलन ( assessment) योग्य हो सकती है जो लाखों की बचत कर सकते हैं। कराधान (Taxation)के एक अनुमान के आधार का लाभ उद्यमों (Enterprises) के लिए उपलब्ध है  जो खातों की विस्तृत पुस्तकों (Detailed books of accounts) को बनाए रखता है और लेखा परीक्षा प्रक्रियाओं (Audit procedures) से गुजरने (Passing) से राहत देता है।

  1. क्रेडिट लिंक्ड गारंटी योजना- (Credit Linked Guarantee Scheme –)

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय और भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (SIDBI) ने सूक्ष्म और लघु उद्यमों (CGTMSE) के लिए विशेष रूप से सूक्ष्म और लघु उद्यमों के लिए क्रेडिट गारंटी फंड योजना को लागू करने के लिए क्रेडिट गारंटी फंड ट्रस्ट (Credit Linked Guarantee Scheme –) नामक ट्रस्ट की स्थापना की है। यह योजना व्यक्तिगत (Personal) MSME के ​​लिए 50 लाख तक के संपार्श्विक-मुक्त ऋण (Collateral free loan) की अनुमति (Permission) देती है।

  1. सरकार और निर्यात संवर्धन से बाजार की सहायता (Market Support by Government and Export Promotion)

भारत सरकार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई एक्सचेंज कार्यक्रमों, शिल्प मेलों, प्रदर्शनियों और व्यापार से संबंधित कार्यक्रमों का आयोजन करती है। Micro, Small or Medium Enterprises के रूप में Classified किए जाने से इन सभी प्लेटफार्मों (Platforms) को विभिन्न देशों के साथ व्यापार-संबंधित पहलुओं (Business-related aspects) पर अंतर्राष्ट्रीय सहयोग और नए व्यापार कनेक्शनों (Business connections) को बढ़ावा मिलता है। सरकार MSMEs द्वारा सब्सिडी  कर छूट और तकनीकी सहायता के माध्यम से वस्तुओं और सेवाओं के निर्यात (Export) को प्रोत्साहित करती है।

  1. अवसंरचना (Infrastructure) विकास के लिए पूंजी और अन्य अनुदान (Grant) –

चूंकि MSME रोजगार पैदा करने वाला क्षेत्र है और उद्यमी उद्यम (Entrepreneurial venture) को बढ़ावा दे रहा है  इसलिए सरकार MSME के लिए प्रशिक्षण क्षेत्रों की भी पहचान करती है और बुनियादी ढांचे (Basic Infrastructure) के सुधार के लिए पूंजीगत अनुदान (Capital grant) देती है और उद्यमशीलता (Entrepreneurship) के विकास के लिए सहायता प्रदान करती है।

  1. आईएसओ प्रमाणन की प्रतिपूर्ति-

(Reimbursement of ISO certification)

सभी क्षेत्रों में अपने प्रदर्शन को बढ़ाने के लिए MSME द्वारा प्राप्त मानकों और प्रमाणपत्रों (Standards and certifications) को बढ़ावा मिलता है इसके लिए  सभी पंजीकृत सूक्ष्म और लघु उद्योग आईएसओ 9000, आईएसओ 14001 और HACCP  प्रमाणपत्र प्राप्त किया जा सकता है इसे प्राप्त करने के लिए किए गए सभी खर्चों की छूट का लाभ उठा सकते हैं।

  1. विशेष खरीद और प्रतियोगिता से आश्रय – (Shelter from special purchase and competition –)

MSME मार्केट डेवलपमेंट असिस्टेंस स्कीम (Shelter from special purchase and competition ) के हिस्से के रूप में, केंद्र सरकार एक मूल्य और खरीद वरीयता नीति (Priority policy) का अनुसरण (Pursuance) करती है। जिसमें केवल मध्यम, सूक्ष्म और लघु इकाइयों से केंद्र सरकार द्वारा विशेष खरीद आते है इस खरीद के लिए 358 से अधिक वस्तुओं को इसके अंतर्गत सूचीबद्ध (Listed) किया गया है।

  1. MSME को प्रौद्योगिकी (Technology) और गुणवत्ता उन्नयन (Quality Upgrade) में सहायता –

लागत-प्रभावशीलता बढ़ाने (Increase cost-effectiveness) और विनिर्माण (Manufacturing) में स्वच्छ ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए  सरकार परियोजना लागतों (Costs) की प्रतिपूर्ति (Reimbursement) करती है

लागत-प्रभावशीलता बढ़ाने और विनिर्माण में स्वच्छ ऊर्जा (clean energy) के उपयोग को बढ़ावा मिलता है  सरकार MSME क्षेत्र की इकाइयों (Units) के लिए इन लक्ष्यों के लिए परियोजना लागतों की प्रतिपूर्ति करती है और स्वच्छ प्रौद्योगिकी के कार्यान्वयन ऑडिट रिपोर्ट (Implementation audit report) तैयार करने और लाइसेंसिंग उत्पादों के लिए सब्सिडी के अनुसार खर्च करती है। राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मानक।

एमएसएमई ऑनलाइन आवेदन (MSME online application)

MSME पंजीकरण प्रक्रिया कई प्रोत्साहन (Encouragement) और लाभ प्रदान करती है जिसमें मौद्रिक और गैर-मौद्रिक (Monetary and non monetary) दोनों शामिल हैं। ये MSME पंजीकरण लाभ व्यवसाय के उद्यमशीलता (Entrepreneurship) और व्यापार विकास से संबंधित हैं। यदि आप अपने सूक्ष्म, लघु या मध्यम व्यापार के लिए MSME पंजीकरण के लाभों का आनंद लेना चाहते हैं, तो आपको बिना असफलता (Failure) के MSME पंजीकरण का विकल्प चुनना चाहिए।

 

 

0

अपने बिज़नेस को MSME रेजिस्ट्रेशन करवाएं और पाएं 9 लाभ

379

माइक्रो, स्माल और मध्यम आकार (Micro, Small and Medium Size) के उद्योग (Enterprises) MSME पंजीकरण (Registration) प्राप्त कर सकते हैं| विशेष रूप से ये प्रमुख व्यावसायिक इकाइयां (business units) हैं जो हमारी अर्थव्यवस्था और इसकी वृद्धि (Growth) को चलाते हैं। MSME पंजीकरण एक ऑनलाइन प्रक्रिया है और यह पेशेवरों से बहुत अधिक आसान मदद की मांग करती है। यहाँ  हम आपके व्यापार के लिए MSME Registration प्राप्त करने के 9 प्रमुख MSME  लाभों को बताएँगे | 

अपनी पिछली पोस्ट में  हमने MSME पंजीकरण प्राप्त करने की प्रक्रिया और अन्य विवरणों पर चर्चा की है और मोटे तौर पर इस बात पर ध्यान दिया है कि हमें अपनी अर्थव्यवस्था और इसके विकास के लिए सूक्ष्म, लघु, और मध्यम इकाइयों की आवश्यकता क्यों है। इस ब्लॉग में  हम MSME पंजीकरण के शीर्ष नौ लाभों को सूचीबद्ध (Listed) करते हैं जिन्हें MSME पंजीकरण के अनुदान (Grant) के साथ लाभ उठाया जा सकता है। इनमें मौद्रिक (Monetary) के साथ-साथ व्यापार और उद्यमशीलता (Entrepreneurship) विकास से संबंधित गैर-मौद्रिक लाभ (Non monetary benefits) शामिल हैं।

MSME पंजीकरण पर निशुल्क विशेषज्ञ गाइड

नीचे आपको आवश्यक और स्टार्ट-अप फ्रेंडली सेवाओं की सूची मिलेगी| जैसे कि खाद्य लाइसेंस के लिए आवेदन कैसे करें| ट्रेडमार्क पंजीकरण या पंजीकरण के लिए प्रक्रिया के लिए समय निकालें।

कंपनी रेजिस्ट्रेशन करें

आइए अब हम एमएसएमई पंजीकरण के 9 आवश्यक लाभों को देखें। MSME पंजीकरण लाभ आपके व्यवसाय में विकास होता है और  सुधार और उचित व्यवसाय मॉडल बनाने में आपकी बहुत मदद करेगा।

  1. प्राथमिकता उधार –
  2. Priority Credit

हमारा पहला MSME लाभ प्राथमिकता उधार है। चाहे आप अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी (state of the art technology) व्यवसाय के गर्व के मालिक हों या मसाला पैकिंग कंपनी, ग्रामीण महिलाओं को रोजगार, ऋण और ऋण कुछ ऐसा है जो आपके व्यवसाय को अनिवार्य रूप से दीर्घकालिक (Long term) और अल्पकालिक (temporary) वित्तपोषण (Financing) के लिए आवश्यक होता है । भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा जारी किए गए निर्देशों के आधार पर (Based on instructions) बैंकों के पास कुछ निश्चित फंड (Fixed fund) होते हैं जिन्हें MSME व्यवसायों को अनिवार्य रूप से दिया जाना चाहिए। कम बाधाओं के साथ प्राथमिकता के आधार पर इस ऋण का लाभ उठाते है तो MSME प्रमाणपत्र का उत्पादन करने से लाभ होता है।

  1. कम ब्याज दर और उपलब्धता और अधिक क्रेडिट तक पहुंच-

संपार्श्विक सुरक्षा  , Collateral security (ऋण के खिलाफ सुरक्षा के रूप में दी गई कोई भी संपत्ति / नकदी) की जब अनुपस्थिति होती है तो ऐसे  में  कई व्यवसाय मालिकों को अपने उद्योग शुरू करना होता है उस समय  के लिए ऋण को सुरक्षित करना बहुत मुश्किल हो सकता है। हालांकि MSME पंजीकरण के साथ  सभी बैंकों को विशेष रूप से सामान्य से कम ब्याज दरों पर ऋण की पेशकश करने का निर्देश दिया जाता है और कोई भी अपनी वित्तीय जरूरतों को पूरा कर सकता है इसके लिए कई बैंकिंग संस्थानों से यह लाभ उठाने में सक्षम हो सकता है।

  1. आयकर में छूट (3. Income tax exemption)

कई एमएसएमई पंजीकरण लाभ हैं जो इस प्रमाण पत्र की अनुपस्थिति (Absence) में कर के लिए आकलन ( assessment) योग्य हो सकती है जो लाखों की बचत कर सकते हैं। कराधान (Taxation)के एक अनुमान के आधार का लाभ उद्यमों (Enterprises) के लिए उपलब्ध है  जो खातों की विस्तृत पुस्तकों (Detailed books of accounts) को बनाए रखता है और लेखा परीक्षा प्रक्रियाओं (Audit procedures) से गुजरने (Passing) से राहत देता है।

  1. क्रेडिट लिंक्ड गारंटी योजना- (Credit Linked Guarantee Scheme –)

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय और भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (SIDBI) ने सूक्ष्म और लघु उद्यमों (CGTMSE) के लिए विशेष रूप से सूक्ष्म और लघु उद्यमों के लिए क्रेडिट गारंटी फंड योजना को लागू करने के लिए क्रेडिट गारंटी फंड ट्रस्ट (Credit Linked Guarantee Scheme –) नामक ट्रस्ट की स्थापना की है। यह योजना व्यक्तिगत (Personal) MSME के ​​लिए 50 लाख तक के संपार्श्विक-मुक्त ऋण (Collateral free loan) की अनुमति (Permission) देती है।

  1. सरकार और निर्यात संवर्धन से बाजार की सहायता (Market Support by Government and Export Promotion)

भारत सरकार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई एक्सचेंज कार्यक्रमों, शिल्प मेलों, प्रदर्शनियों और व्यापार से संबंधित कार्यक्रमों का आयोजन करती है। Micro, Small or Medium Enterprises के रूप में Classified किए जाने से इन सभी प्लेटफार्मों (Platforms) को विभिन्न देशों के साथ व्यापार-संबंधित पहलुओं (Business-related aspects) पर अंतर्राष्ट्रीय सहयोग और नए व्यापार कनेक्शनों (Business connections) को बढ़ावा मिलता है। सरकार MSMEs द्वारा सब्सिडी  कर छूट और तकनीकी सहायता के माध्यम से वस्तुओं और सेवाओं के निर्यात (Export) को प्रोत्साहित करती है।

  1. अवसंरचना (Infrastructure) विकास के लिए पूंजी और अन्य अनुदान (Grant) –

चूंकि MSME रोजगार पैदा करने वाला क्षेत्र है और उद्यमी उद्यम (Entrepreneurial venture) को बढ़ावा दे रहा है  इसलिए सरकार MSME के लिए प्रशिक्षण क्षेत्रों की भी पहचान करती है और बुनियादी ढांचे (Basic Infrastructure) के सुधार के लिए पूंजीगत अनुदान (Capital grant) देती है और उद्यमशीलता (Entrepreneurship) के विकास के लिए सहायता प्रदान करती है।

  1. आईएसओ प्रमाणन की प्रतिपूर्ति-

(Reimbursement of ISO certification)

सभी क्षेत्रों में अपने प्रदर्शन को बढ़ाने के लिए MSME द्वारा प्राप्त मानकों और प्रमाणपत्रों (Standards and certifications) को बढ़ावा मिलता है इसके लिए  सभी पंजीकृत सूक्ष्म और लघु उद्योग आईएसओ 9000, आईएसओ 14001 और HACCP  प्रमाणपत्र प्राप्त किया जा सकता है इसे प्राप्त करने के लिए किए गए सभी खर्चों की छूट का लाभ उठा सकते हैं।

  1. विशेष खरीद और प्रतियोगिता से आश्रय – (Shelter from special purchase and competition –)

MSME मार्केट डेवलपमेंट असिस्टेंस स्कीम (Shelter from special purchase and competition ) के हिस्से के रूप में, केंद्र सरकार एक मूल्य और खरीद वरीयता नीति (Priority policy) का अनुसरण (Pursuance) करती है। जिसमें केवल मध्यम, सूक्ष्म और लघु इकाइयों से केंद्र सरकार द्वारा विशेष खरीद आते है इस खरीद के लिए 358 से अधिक वस्तुओं को इसके अंतर्गत सूचीबद्ध (Listed) किया गया है।

  1. MSME को प्रौद्योगिकी (Technology) और गुणवत्ता उन्नयन (Quality Upgrade) में सहायता –

लागत-प्रभावशीलता बढ़ाने (Increase cost-effectiveness) और विनिर्माण (Manufacturing) में स्वच्छ ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए  सरकार परियोजना लागतों (Costs) की प्रतिपूर्ति (Reimbursement) करती है

लागत-प्रभावशीलता बढ़ाने और विनिर्माण में स्वच्छ ऊर्जा (clean energy) के उपयोग को बढ़ावा मिलता है  सरकार MSME क्षेत्र की इकाइयों (Units) के लिए इन लक्ष्यों के लिए परियोजना लागतों की प्रतिपूर्ति करती है और स्वच्छ प्रौद्योगिकी के कार्यान्वयन ऑडिट रिपोर्ट (Implementation audit report) तैयार करने और लाइसेंसिंग उत्पादों के लिए सब्सिडी के अनुसार खर्च करती है। राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मानक।

एमएसएमई ऑनलाइन आवेदन (MSME online application)

MSME पंजीकरण प्रक्रिया कई प्रोत्साहन (Encouragement) और लाभ प्रदान करती है जिसमें मौद्रिक और गैर-मौद्रिक (Monetary and non monetary) दोनों शामिल हैं। ये MSME पंजीकरण लाभ व्यवसाय के उद्यमशीलता (Entrepreneurship) और व्यापार विकास से संबंधित हैं। यदि आप अपने सूक्ष्म, लघु या मध्यम व्यापार के लिए MSME पंजीकरण के लाभों का आनंद लेना चाहते हैं, तो आपको बिना असफलता (Failure) के MSME पंजीकरण का विकल्प चुनना चाहिए।

 

 

0

No Record Found
शेयर करें