हर किसी को सरकारी जीएसटी (GST) पोर्टल के बारे में ज़रूर जानना चाहिए

159

गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) भारत में निष्पादित सबसे बड़े टैक्स सुधारों में से एक है, जिसमें भारी परिवर्तन बीते कुछ समय में देखने को मिला, लेकिन इसके बावजूद विधायिका एक सुचारू प्रगति प्रणाली की व्यवस्था कर रही है।  विधायिका ने मौजूदा वैट, सेवा टैक्स और उत्पाद शुल्क अधिकारियों के लिए https://www.gst.gov.in पर एक जीएसटी पोर्टल का प्रस्ताव दिया है, जिससे करदाताओं को काफी मदद मिल सकती है। बता दें कि मौजूदा विक्रेताओं के लिए आप अपने टैक्स अधिकारी से अपनी अनंतिम आईडी एकत्र कर सकते हैं। इसके अलावा आपको अपने प्रोफाइल डेटा को अपडेट करने के साथ ही पोर्टल पर जीएसटी रिटर्न दाखिल करने के लिए आवश्यक जानकारी भी अपलोड करनी चाहिए, जिससे किसी भी परेशानी से बचा सकता है।

  1. जीएसटी पोर्टल
  • जीएसटी पोर्टल में नामांकन कैसे करें?
  • जीएसटी पोर्टल पर लॉगिन कैसे करें?
  • जीएसटी पोर्टल पर उपलब्ध प्रबंधन

 

  1. जीएसटी नामांकन के लिए वेंचर्स
  2. जीएसटी पोर्टल के लिए आवश्यक आईडी
  3. निष्कर्ष
  4. जीएसटी पोर्टल

जीएसटी पोर्टल मौजूदा नागरिकों के बारे में जानकारी इकट्ठा करने की गारंटी देगा, जिसके बाद यह लगातार जीएसटी प्रगति के लिए एक ठोस स्थापना और अग्रिम व्यवस्था देता है। फिलहाल मौजूदा नागरिक अलग-अलग वैट कार्यालय या प्रशासन प्रभारी कार्यालय द्वारा उन्हें दिए गए प्रोविजनल आईडी के माध्यम से जीएसटी पोर्टल पर जीएसटी के लिए खुद को सूचीबद्ध कर सकते हैं। 

इस प्रक्रिया के बाद वे वे फिर जीएसटी पोर्टल पर अपने व्यापार से संबंधित छोटी बड़ी चीज़ों को अपडेट करने के लिए सक्षम रहेंगे, लेकिन इसके लिए यह जानना बेहद ज़रूरी है कि आखिर जीएसटी पोर्टल पर नामांकन या लॉगिन कैसे करते हैं, जिसके बारे में वकील सर्च आपको पूरी जानकारी दे रहा है। बता दें कि वकील सर्च आपको जीएसटी से जुड़ी तमाम जानकारी देता है, जिसमें पंजीकरण प्रक्रिया, लॉगिन या फिर रिटर्न फाइल करना आदि शामिल है।

जीएसटी पोर्टल में नामांकन कैसे करें?

आपको वेबसाइट पर जाकर नामांकन के लिए जीएसटी पंजीकरण के लिए आवेदन करना होगा, जिसके लिए आपको कुछ दस्तावेज़ भी प्रस्तुत करने होंगे। अमूमन कुछ दस्तावेज़ प्रस्तुत करने पर नामांकन की प्रक्रिया समाप्त हो जाती है। बता दें कि आप जीएसटी पंजीकरण पर हमारे लेख में नामांकन की पूरी प्रक्रिया की खोज कर सकते हैं, जिसकी मदद से आप आसानी से नामांकन कर सकते हैं।

जीएसटी पोर्टल पर लॉगिन कैसे करें?

  • जीएसटी पोर्टल पर लॉगिन करने के लिए आप निम्नलिखित चरणों का पालन कर सकते हैं, जिसके बाद आप पोर्टल पर मौजूद सभी सुविधाओं का लाभ आसानी से ले सकते हैं- 
  • चरण 1: इस लिंक पर क्लिक करके मुख्य वेबसाइट पर जाएं – https://www.gst.gov.in
  • चरण 2: या फिर आप इस लिंक https://services.gst.gov.in/services/login पर क्लिक करके लॉग इन कर सकते हैं।
  • चरण 3: लिंक ओपन होने के बाद उपयोगकर्ता नाम, पासवर्ड और कैप्चा कोड दर्ज करें और फिर स्नैप-ऑन लॉग इन करें।
  • चरण 4: लॉगिन होने के बाद आपको एक डैशबोर्ड पर ले जाया जाएगा, जहां आप जीएसटी क्रेडिट्स की एक रूपरेखा देख सकते हैं, जोकि स्क्रीन पर दिखाई देगा, जिसमें आप जीएसटी देय (किसी भी), नोटिस, और इसके आगे पर क्लिक करके जानकारी ले सकते हैं।

जीएसटी पोर्टल पर उपलब्ध प्रबंधन

  • यहां GST पोर्टल पर सुलभ कुछ प्रशासनों का एक समूह है, जिसकी जानकारी या आइटम पर निर्देश के लिए प्रशासन यानि प्रबंधन पर स्नैप करें, जिसके बाद आपको निम्नलिखित चीज़ें दिखाई देंगी- 
  • सामान्य कर दाता, आईएसडी, कैजुअल डीलर के लिए पंजीकरण
  • जीएसटी प्रैक्टिशनर के लिए आवेदन
  • रचना योजना पर निर्णय (GST CMP-02)
  • रचना व्यापारियों के लिए स्टॉक निहितार्थ (GST CMP-03)
  • छोड़ने की योजना (GST CMP-04)
  • जीएसटी रिटर्न का दस्तावेजीकरण
  • जीएसटी की किस्त
  • GSTR-1 का निर्यात तालिका 6A (निर्यात वापसी)
  • अधिकता जीएसटी भुगतान की गारंटी रिफंड (RFD-01)
  • अंडरटेकिंग (एलयूटी) (आरएफडी -11) का आउटफिट लेटर
  • फॉर्म बदलें (TRAN-1, TRAN-2, TRAN-3)
  • ई-लेजर का सर्वेक्षण करें
  • उपरोक्त केंद्रों और गैर-केंद्र क्षेत्रों को बदलने वाले अन्य प्रशासन के अलावा, आईटीसी फॉर्म, एंगेज / डिसेंजेज जीएसटी प्रैक्टिशनर का दस्तावेजीकरण जीएसटी पोर्टल / जीएसटीएन पर दिए गए विभिन्न प्रशासनों का एक हिस्सा है, जिसके बारे में आप पोर्टल पर लॉगिन करके कभी भी और कहीं से भी जानकारी ले सकते हैं। 
  1. जीएसटी नामांकन के लिए वेंचर्स
  • जीएसटी नामांकन के लिए विभिन्न वेंचर्स का ज़िक्र निम्नलिखित किया गया है, जिसकी मदद से आप इससे जुड़ी तमाम जानकारी ले सकते हैं- 
  • राज्य वैट विभाग हर एक नामांकित नागरिक को प्रोविजनल आईडी और पासवर्ड प्रदान करता है।
  • राज्य के वैट विभाग से उस मौके पर संपर्क करें, जब आपने अपना प्रोविजनल आईडी और पासवर्ड प्राप्त नहीं किया है।
  • जीएसटी की बेसिक प्रोविजनल आईडी और पासवर्ड प्राप्त करने के लिए पोर्टल https://www.gst.gov.in/ का इस्तेमाल करें। एक असाधारण यूजरनेम और अस्थायी आईडी और कूटशब्द का उपयोग करने वाली एक नया कूटशब्द यानि पासवर्ड लें।
  • सुनिश्चित करें कि आपके पास जीएसटी प्रवेश मार्ग पर अनुमोदन के लिए एक वैध ईमेल पता और सेल फोन नंबर है।
  • यूजर आईडी और पासवर्ड बनने के बाद आपको जीएसटी के नियमित प्रवेश https://www.gst.gov.in/ पर साइन इन करना चाहिए।
  • नामांकन आवेदन भरें और फिर व्यवसाय की जानकारी दें।
  • राज्य वैट ढांचे से auto-populated वाली सूक्ष्मताओं की पुष्टि करें।
  • इलेक्ट्रॉनिक रूप से नामांकन आवेदन पर हस्ताक्षर करें।
  • इलेक्ट्रॉनिक रूप से मौलिक कनेक्शन के साथ नामांकन आवेदन जमा करें।
  • इन सूक्ष्मताओं को प्रस्तुत करने की पुष्टि जीएसटी रूपरेखा द्वारा की जाएगी, जिसकी वजह से आपको किसी चीज़ की चिंता लेने की कोई आवश्यकता नहीं होगी। बताते चलें कि इस घटना में कि सूक्ष्मताएं उचित हैं, जोकि एक अनुप्रयोग संदर्भ संख्या (ARN) आपको स्थानांतरित स्थिति में जारी किया जाएगा। अनुलेखित की गई तारीख को अस्थायी आईडी की स्थिति गतिशील हो जाएगी, जिसके बाद एक अस्थायी प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा।
  • बता दें कि आपके नामांकन आवेदन की पुष्टि होने के बाद आपको संरचना पर हस्ताक्षर करने की आवश्यकता है, जिसके लिए आप डिजिटल हस्ताक्षर प्रमाण पत्र का इस्तेमाल कर सकते हैं, जिसके बाद आपको एक नोटिफिकेशन प्राप्त होगा और फिर आगे की प्रक्रिया शुरु होगी।
  • ध्यान दें कि यदि स्वीकृत हस्ताक्षर कर्ता की हस्ताक्षर को स्वीकृति मिल गई तो एक ई-साइन की अनुमति दी जाती है, जिसका उल्लेख नामांकन आवेदन के स्वीकृत हस्ताक्षर टैब में किया गया है। इसके अलावा डीएससी यानि डिजिटल हस्ताक्षर प्रमाण पत्र का इलेक्ट्रॉनिक रूप से उपयोग करने वाले ढांचे पर हस्ताक्षर करना अनिवार्य है।
  1. जीएसटी पोर्टल के लिए आवश्यक आईडी
  • यह सुनिश्चित करें कि जीएसटी पोर्टल पर लॉगिन करने से पहले आपके पास निम्नलिखित आईडी मौजूद है, जिसकी मदद से आप बिना किसी रुकावट के इसका लाभ ले सकते हैं-
  • अस्थायी आईडी और पासवर्ड, जोकि वैट विशेषज्ञ से मिला है।
  • वैध ईमेल पता।
  • वैध मोबाइल नंबर।
  • वित्तीय बैलेंस संख्या।
  • बैंक का IFSC कोड।
  • व्यवसाय पंजीकरण के साक्ष्य (दुकान स्थापना प्रमाण पत्र, कंपनियों, कंपनियों के आयोजन के लिए कंपनियों और ज्ञापन की स्थिति में स्वामित्व, भागीदारी का प्रमाण पत्र आदि।)
  1. निष्कर्ष

उपरोक्त चरणों से गुजरने के बाद अंत में आप जीएसटी पंजीकरण की स्थिति का सर्वेक्षण कर सकते हैं, जिससे आपको यह जानने के लिए एक संदेश मिलेगा कि क्या इसे माइग्रेटेड से सक्रिय या निलंबित कर दिया गया है। मतलब साफ है कि आप इस आसान सी प्रक्रिया की मदद से जीएसटी से जुड़ी तमाम जानकारी घर बैठे ही प्राप्त कर सकते हैं, लेकिन इसके लिए पहले जीएसटी पंजीकरण का होना अनिवार्य है। ऐसे में यदि आपने अभी तक जीएसटी पंजीकरण नहीं कराया है, तो फौरन करा लें। (GST) पोर्टल

[ajax_load_more post_type="post" repeater="default" posts_per_page="1" post__not_in="20609 button_label="Next Post"]
SHARE

FAQs